en हिंदी
Loading...

बटन का नाम: "वैधता"

एम एम एम केवल ऐसे लोगों का समुदाय है जो बिना किसी शर्त, गारंटी, और वादे के एक दूसरे की मदद स्वेच्छा से और पूरे होशोहवास में एक खाते से दूसरे खाते में पैसे का स्थानांतरण करते हैं। बस वे यह करना चाहते हैं। क्योंकि अन्य लोगों की मदद करना अच्छा है।

दूसरे शब्दों में, यह आपसी सहायता निधि है।

एम एम एम में कोई औपचारिक संगठन या कानूनी व्यक्ति नहीं है। इसलिए, न तो कोई केंद्रीय बैंकिंग खाता है और न ही कोई गतिविधि है, न तो अंतर्निहित है और न ही सुस्पष्ट है। वहां कुछ भी नहीं है। केवल लाखों साधारण प्रतिभागी और निजी व्यक्ति हैं। और उनके बैंकिंग खाते। और कुछ भी नहीं।

इसलिए, कोई विशेष पंजीकरण, अनुमति और लाइसेंस जारी नहीं किया जा सकता है। (ये अनुमति और लाइसेंस क्या हैं और किसके लिए हैं? निजी व्यक्तियों के बीच पैसे के हस्तांतरण के लिए? इन अनुमतियों और लाइसेंस को कौन जारी करेगा और किसको करेगा? :-))

नतीजतन, एम एम एम बिल्कुल कानूनी है और किसी भी कानून का उल्लंघन नहीं करता है क्योंकि यहाँ निजी व्यक्तियों के बीच स्थानान्तरण के अलावा कुछ भी नहीं है।

जैसे लोगों को अपने पैसे का उपयोग उनकी इच्छानुसार करने से रोकना असंभव है उसी प्रकार एम एम एम को रोकना असंभव है। अन्यथा, सभी निजी संपत्ति संस्थानों को रोकना आवश्यक हो जायेगा।

ठीक है, तो वैधता के बारे में सब कुछ स्पष्ट है। कोई भी उल्लंघन नहीं हो सकता है। चलो कोई और बात करते हैं। ईमानदारी। आओ रेखांकित करते हैं कि एम एम एम किसी को धोखा नहीं दे रहा है या किसी को भ्रमित नहीं कर रहा है। तो यह कोई धोखा नहीं है। हर कोई पहले से ही सभी अंतर्निहित और स्पष्ट जोखिम के बारे में अवगत है। (पंजीकरण के दौरान प्रतिभागी इस बात की पुष्टि करता है कि उसने चेतावनी को पढ़ लिया है)

संक्षेप में, एम एम एम किसी भी बैंक या अन्य वित्तीय संस्था, उनके लाइसेंस और अनुमति से भी अधिक ईमानदार है (यहां तक कि बहुत अधिक ईमानदार!) क्योंकि वे झूठ बोलते हैं या कुछ छुपाते हैं इत्यादि। एम एम एम कुछ भी नहीं छिपाता है और पारदर्शी रूप से और ईमानदारी से सब कुछ स्पष्ट रूप से बता देता है। "आप खतरे में हैं। कोई गारंटी नहीं है। आप किसी भी पल में सब कुछ खो सकते हैं" - क्या आपने कहीं और इस तरह से कुछ सुना है ? केवल एम एम एम में।

ईमानदारी और एक बार फिर से ईमानदारी। जो कि हमारा मुख्य नियम है। ईमानदारी, पारदर्शिता और विश्वास प्रणाली के मुख्य बिंदु हैं। क्या आपने कभी भी बिना किसी गारंटी के अजनबियों को एक दूसरे को पैसे का हस्तांतरण करते देखा है? बस इसे दान करते हुए ?

दुनिया भर के लाखों लोग हर दिन करते हैं ?!

क्या यह प्रलाप है? कथा साहित्य? काल्पनिक आदर्श? नहीं, यह एम एम एम है !!!

हमसे जुड़ें! एम एम एम में आपका स्वागत है! एक साथ मिलकर हम दुनिया को बदल सकते हैं।